‘रेपिस्ट को संतुष्ट करें, साथ में कॉन्डम लेकर चलें’

हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक के गैंगरेप और हत्या के मामले से देश स्तब्ध है। देशभर में लोग आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दिए जाने की मांग कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर हैदराबाद के ही एक फिल्ममेकर ने रेप को लेकर शर्मनाक बयान दिया है।

स्मॉल टाइम फिल्ममेकर बताए जाने वाले डेनियल श्रवण ने अपने फेसबुक वॉल पर हैदराबाद रेपकांड को लेकर विचार व्यक्त किए। इसमें उन्होंने सलाह दी कि अगर रेप के बाद महिला को अपनी जान बचानी है तो बेहतर है कि वह रेपिस्ट को संतुष्ट करे और उन्हें कॉन्डम दे। इतना ही नहीं डेनियल ने रेप के बाद हत्या किए जाने के पीछे समाज और महिला संस्थानों को जिम्मेदार ठहराया और हिंसा के बिना किए गए रेप को कानूनी मंजूरी देने की भी सलाह दे डाली।

'रेप को क्षमा कर दें तो नहीं होगी हत्या'
'रेप गंभीर बात नहीं है, लेकिन हत्या क्षमा करने योग्य नहीं है। रेप के बाद हत्या को रोकना चाहिए। बलात्कारियों के दिमाग में ऐसे शैतानी विचार आने के पीछे की मुख्य वजह समाज और महिला संगठन जिम्मेदार हैं। अगर कोर्ट, सरकार और कानून रेप को क्षमा कर दें तो बलात्कारियों के दिमाग में रेप के बाद महिला की हत्या करने जैसा विचार नहीं आएगा। इस क्रूर हत्या के लिए बलात्कारियों से ज्यादा जिम्मेदार समाज और महिला संगठन हैं।'

'कानूनी रूप से दें रेप को मंजूरी'
डेनियल ने आगे लिखा 'हिंसा के बिना रेप को कानून रूप से मंजूरी दे देना ही इस तरह की क्रूर हत्याओं को रोकने का एकमात्र तरीका है। इससे बलात्कारी को कानून और समाज का डर नहीं रहेगा और वह महिला/ पुरुष को रेप के बाद जिंदा छोड़ देगा। इस संदर्भ में हत्या से ज्यादा बेहतर रेप है। हत्या करना पाप है और एक आक्रामक अपराध है वहीं रेप में सुधारात्मक सजा दी जा सकती है। निर्भया ऐक्ट जैसी चीजों से कोई न्याय नहीं मिलने वाला है। रेप का उद्देश्य रेपिस्ट की यौन इच्छा को पूरा करना है जो समय या मूड के हिसाब से हो सकता है। तर्क यह है कि बलात्कारी डर के कारण पीड़िता की हत्या करने जैसा कदम नहीं उठाएगा अगर समाज, अदालत और महिला संगठन इसे इग्नोर कर दें। सरकार को 18 साल की उम्र पार कर चुके लोगों के लिए रेप के बाद हत्या मत करो या हिंसा के बिना रेप जैसे निर्देश जारी करना चाहिए। मैं रेप को बढ़ावा नहीं दे रहा लेकिन मेरा मानना है कि लड़की की जिंदगी बचाने का यह सही रास्ता है।'

'पर्स में कॉन्डम लेकर चलें, बलात्कारी को ऑफर करें'
इतना ही नहीं डेनियल ने कॉमेंट के जरिए भी कई विवादित टिप्पणियां कीं। 'महिलाओं को 100 डायल करने की जगह पर्स में कॉन्डम लेकर चलना चाहिए। खुद की जान कॉन्डम के जरिए बचानी चाहिए। जान निर्भया ऐक्ट से नहीं बल्कि कॉन्डम के जरिए बचाई जा सकती है।' उनका यह कॉमेंट उस पोस्ट पर था जिसमें एक शख्स ने लिखा था कि वह रेपिस्ट को कॉन्डम देते हैं और न चीखते हैं और उनका सहयोग करते हैं।

'बलात्कारियों को डराए नहीं, उनका सहयोग करें'
'सरकार को हिंसा के बिना किए गए रेप को कानूनी कर देना चाहिए ताकि महिला की हत्या न की जाए। 18 साल की उम्र की ऊपर की लड़कियों को रेप के बारे में शिक्षा दी जानी चाहिए कि उन्हें पुरुषों की यौन इच्छा को अस्वीकार नहीं करना चाहिए तभी इस तरह की घटनाएं रोकी जा सकेंगी। यह सोचना मूर्खता है विरप्पन को मार देने से स्मगलिंग रुक जाएगी और लादेन को मारने से आतंकवाद रुक जाएगा। इसी तरह निर्भया ऐक्ट से रेप और हिंसात्मक बलात्कार की घटनाओं को नहीं रोक सकता है। सिंपल लॉजिक यह है कि जब पुरुषों की यौन इच्छा की पूर्ति हो जाएगी तो वह महिला की हत्या नहीं करेंगे। निर्भया ऐक्ट, पेपर स्प्रे जैसी चीजों से महिला संगठन, सरकार और समाज बलात्कारियों को डराते हैं, इससे उन्हें अपनी यौन इच्छाएं पूरी करने का जरिया नहीं मिल पाता है और उनके दिमाग में हत्या करने जैसे विचार आते हैं। बेहतर यही है कि महिलाएं पुरुषों की यौन इच्छा को स्वीकार करें।'

बाद में डिलीट किया पोस्ट
डेनियल का पोस्ट पढ़ने के बाद लोगों ने उनकी कड़ी आलोचना करना शुरू कर दी। यह देखते हुए फिल्ममेकर ने अपना पोस्ट डिलीट कर दिया और सफाई में कहा कि उनका उद्देश्य इस संवेदनशील मुद्दे को लेकर नकारात्मक पोस्ट करने या किसी को आहत करने का नहीं था। उन्होंने कहा कि वह अपनी आने वाली फिल्म के लिए डायलॉग लिख रहे थे जिन्हें मूवी में विलन कहता दिखाई देता। लोगों ने इसे गलत समझ लिया। फिल्मकार ने अंत में कहा कि गलतफहमी के लिए क्षमा मांगी।

Leave a Comment