राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन में मध्यप्रदेश को बनाना है नम्बर वन

भोपाल

राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन में मध्यप्रदेश को नम्बर वन राज्य बनाना है। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिये सभी लोग मिलकर कार्य करें। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्द्धन सिंह ने राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के कार्यो की समीक्षा के दौरान यह बात कही।

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री सिंह ने कहा कि स्व-सहायता समूह का टारगेट 4 हजार से बढ़ाकर 15 हजार करें। जिन समूहों को रिवाल्विंग फण्ड नहीं मिल रहा है, उन्हें बंद करें। समूहों को स्वीकृत लोन का वितरण बैंको से जल्द करवाएं। शहर के स्कूलों के बच्चों की ड्रेस बनाने का कार्य स्व-सहायता समूह से कराये जा सकते हैं। सिंह ने डबरा में विकलांग लोगों के समूह की गतिविधियों की सराहना की।

17 दिसम्बर से सभी 110 शहरों में ट्रेनिंग

मंत्री जयवर्द्धन सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन में सभी 110 शहरों में प्रशिक्षण का काम 17 दिसम्बर को एक साथ शुरू करें। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के बाद योग्य युवाओं के प्लेसमेंट की योजना भी बनाएं। समूह के सभी सदस्यों को राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे वचनों की पूर्ति के संबंध में भी अवगत कराएं। रिक्त पदों पर भर्ती जल्द करें। सिंह ने कहा कि सरकार का विजन क्षेत्र में दिखना चाहिए। उन्होंने कहा कि पैसा पोर्टल के संबंध में भी प्रशिक्षण करवायें।

मंत्री सिंह ने कहाकि स्ट्रीट वेंडर को नये परिचय-पत्र जारी करें। उन्होंने जबलपुर में निवाड़गंज सब्जी मंडी में हाट बाजार और विभिन्न शहरों में शेल्टर होम का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिये। समूह की बैठक प्रति माह करने के लिये भी कहा। मंत्री सिंह ने बताया कि शहरी आजीविका मिशन से जुड़े कर्मचारियों की समस्याओं पर सहानुभूति पूर्वक विचार किया जायेगा।

बैठक में आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास पी. नरहरि, अपर आयुक्त आशीष सक्सेना सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment