‘किसी का बिस्तर गरम करके नहीं बनाया करियर

बीते साल जब अभिनेत्री तनुश्री दत्ता अमेरिका से भारत लौटीं तो बातचीत में 10 साल पहले अपने साथ हुए हादसे पर बात की। दरअसल इस समय दुनिया भर में महिलाओं के साथ हो रहे यौन शोषण को लेकर मीटू अभियान जोर-शोर से चल पड़ा था और इसी समय तनुश्री का पुराना दर्द एक बार फिर से ताजा हो गया।

तमाम न्यूज़ चैनल और मीडिया वालों ने तनुश्री से बात करनी शुरू कर दी और करीब 15 दिन के बाद उनकी बात सोशल मीडिया में ट्रेंड होने लगी और उनकी बात पूरी दुनिया ने एक बार फिर से सुनी, जब दुनिया भरपूर सपॉर्ट मिला तो तनुश्री ने नाना पाटेकर पर एक बार फिर से केस कर दिया। इस केस के बाद कई तरह के उथल-पुथल हुए, बहस शुरू हुई और बाद में मामला शांत भी पड़ गया। खैर तनुश्री इस साल फिर से देश लौट आई हैं।

मैं नाना पाटेकर को छोडूंगी नहीं। उन्होंने मेरे साथ बहुत बुरा किया, ऐसा माहौल बना दिया, जिसकी वजह से मेरा पूरा बना-बनाया गोल्डन करियर तबाह हो गया, बर्बाद हो गया, खराब कर दिया मेरा बहुत अच्छा करियर। मैंने अपना करियर अपनी कड़ी मेहनत से बनाया था, कभी भी किसी के तलवे नहीं चाटे थे, किसी की जी-हुजूरी नहीं की और न ही किसी का बिस्तर गरम करके बनाया था वह खूबसूरत करियर। खुद की मेहनत बहुत लगती है, इस मेहनत में लोगों से साफ-पाक रहकर खुद को बचाकर आगे बढ़ना भी शामिल है।'

'मैं जब शिकायत लिखवाने जाती तो पुलिस वाले नाना पाटेकर से पूछते थे कि आ गई है वह, क्या करें इसका। उसके बाद मुझसे जिस तरह का घटिया बर्ताव होता, मैं कांपते हुए पुलिस स्टेशन से बाहर निकलती थी। आज 10 साल बाद लोगों ने और सोशल मीडिया में मेरी बात वापस आई तो एक मुहीम सी चल पड़ी, तब जाकर मेरा केस मैंने वापस दर्ज करवाया। यह जो बार-बार खबरें आती हैं न कि उनको ( नाना पाटेकर ) क्लीन चिट मिल गया है, सब सरासर झूठ है, मैं उन्हें कतई नहीं छोडूंगी, नाना जैसे राक्षस के बुराई का अंत जरूर होगा, लेकिन धीरे-धीरे होगा, कभी भी नहीं छोडूंगी उनको, मैं अपनी तबाही का बदला कानूनी प्रक्रिया से लूंगी।'

Leave a Comment