बोर्ड परीक्षा के 729 केंद्र कोरोना के कारण बढ़ गए

 प्रयागराज  
कोरोना के कारण यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए 700 से अधिक केंद्र बढ़ाए गए हैं। केंद्रों की अंतिम सूची बोर्ड ने रविवार सुबह जारी कर दी। इस बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के 56,03,813 छात्र-छात्राओं के लिए 8513 केंद्र बनाए गए हैं। वहीं पिछले साल 56,10,819 परीक्षार्थियों के लिए 7784 केंद्र बनाए गए थे। साफ है कि छात्रसंख्या में गिरावट के बावजूद केंद्रों की संख्या में 729 की वृद्धि हुई है।

हालांकि बोर्ड ने राजकीय और अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों पर अधिक भरोसा जताया है। लेकिन परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ने के कारण वित्तविहीन केंद्रों की संख्या भी बढ़ी है। इस बार 495 राजकीय, 3540 सहायता प्राप्त और 4478 वित्तविहीन स्कूलों को केंद्र बनाया गया है। पिछले साल 451 राजकीय, 3400 सहायता प्राप्त और 3933 प्राइवेट स्कूलों में परीक्षा कराई गई थी।

जिलों से प्रस्तावित केंद्रों पर ही लगी मुहर
परीक्षा के लिए जिला स्तरीय समिति से प्रस्तावित केंद्रों पर ही अंतिम मुहर लगी है। बोर्ड ने 14 फरवरी को केंद्रों की सूची जारी कर 18 फरवरी तक आपत्तियां मांगी थी। अभिभावकों, छात्रों, स्कूल प्रबंधकों एवं प्रधानाचार्यों ने 300 से अधिक आपत्तियां ऑनलाइन माध्यम से राज्यस्तरीय समिति को भेजी थी। लेकिन एक भी केंद्र परिवर्तित नहीं किया गया। चार स्कूल ऐसे थे जिन्हें दो-दो बार केंद्र बना दिया गया था सिर्फ उन्हें समायोजित किया गया है।