अखिलेश यादव ने कहा-‘BJP ने किसान की आय दुगनी करने के बजाय महंगाई कर दी दोगुनी’

लखनऊ
 2022 में उत्तर प्रदेश के अंदर विधानसभा चुनाव होने है। चुनाव से पहले सपा अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर तीखा तंज कसा है। पूर्व सीएम ने कहा कि भाजपा ने किसानों से झूठे वादे किए, संकट में प्रदेश की जनता को अनाथ छोड़ दिया। किसान की आय दुगनी करने के बजाय महंगाई दोगुनी कर दी। भाजपा छल-कपट के दल-दल में झूठ के फूल खिला रही है।

 
अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी इस बार 400 से भी ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज करवाएंगी। यह बात भाजपा को भी पता चल गई है। यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भाजपा सरकार में भेद-भाव, बेरोजगारी, अन्याय, अत्याचार, बहुत बढ़ गया है। ऐसा अन्याय उत्पीड़न आज तक कभी नहीं हुआ। भाजपा ने अपना चुनाव घोषणा पत्र में किया वादा पूरा नहीं किया। आज किसानों को धान की कीमत नहीं मिल रही है। किसानों को मजबूरी में धान जलाना पड़ रहा हैं।

कहा कि सरकार ने समय रहते खाद नहीं खरीदा। खाद के लिए किसान की जान चली गई। डीजल-पेट्रोल रसोई गैस के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं। महंगाई बहुत बढ़ गई है। भाजपा सरकार बताए की डीजल-पेट्रोल का मुनाफा किसकी जेब में जा रहा है? उन्होंने कहा कि चुनाव आता देख भाजपा सरकार उद्घाटन करने में जुट गई है। जौनपुर में बन रहे मेडिकल कॉलेज का काम भाजपा सरकार ने साढ़े चार साल में पूरा नहीं होने दिया। गरीबों को कैंसर का इलाज नहीं होने दिया।
 
पूर्व सीएम ने कहा कि बदायूं, आजमगढ़, सहारनपुर, बांदा, केजीएमयू, डॉ. राममनोहर लोहिया संस्थान का बजट घटा दिया। इस सरकार ने स्वास्थ्य का ढांचा ध्वस्त कर दिया। इसी तरह से शिक्षा का ढांचा ध्वस्त हो गया। आज स्कूलों में पढ़ाई नहीं हो पा रही है। गन्ना किसानों का आज भी बकाया है। कहा कि प्रदेश की जनता को समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र पर भरोसा है। जनता जानती है कि सपा सरकार घोषणा पत्र के वादे पूरे करने के अलावा घोषणा पत्र के वादों से भी ज्यादा काम करती है। लखनऊ में मेट्रो, आई.टी. सिटी और नोएडा में सैमसंग के प्लान्ट इसके उदाहरण हैं।