चिप संकट: मोबाइल-टीवी का स्टॉक कम, फीकी रह सकती है त्योहारी खरीदारी

नई दिल्ली।
चिप संकट मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक और वाहन कंपनियों के लिए बड़ी मुसीबत बनते जा रहा है। इससे त्योहारों के मौके पर उपभोक्ताओं की इनकी खरीदारी के लिए ज्यादा इंतजार करना पड़ रहा है या कीमत अधिक चुकानी पड़ रही है। बाजार के जानकारों के अनुसार दिवाली में और संकट गहराने का अंदेशा है।

मोबाइल-टीवी का स्टॉक कम
खुदरा विक्रेताओं और कंपनी के अधिकारियों के अनुसार, एप्पल, सैमसंग, महंगे टेलीविजन सेट और अधिकांश प्रीमियम ब्रांडों के आयातित उपकरण स्टॉक में नहीं या बहुत ही कम आपूर्ति हो रही है। उनका कहना है कि चिप संकट के कारण मोबाइल और इलेक्ट्रानिक उपकरणों की आपूर्ति ज्यादा प्रभावित हुई है।

फीकी रह सकती है त्योहारी खरीदारी
बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि नवरात्र और दिवाली का समय मोबाइल-इलेक्ट्रॉनिक और वाहन कंपनियों के लिए बेहद अहम होता है। मोबाइल-इलेक्ट्रॉनिक की कुल बिक्री में 30 फीसदी हिस्सेदारी इसी अवधि में होती है। वहीं कुल वाहन बिक्री में 40 फीसदी हिस्सेदारी इस अवधि में होती है। चिप की कमी से कई वाहन कंपनियां समय पर आपूर्ति करने में सक्षम नहीं हैं। उन्हें ग्राहक खोने का डर सता रहा है।

 मोबाइल 19% महंगा खरीद रहे उपभोक्ता
मोबाइल की आपूर्ति घटने से उसकी औसत कीमत में इजाफा हुआ है। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस साल जुलाई से अगस्त तिमाही में यह बदलाव देखने को मिला है। इस अवधि में मोबाइल की औसत खरीद 226 डॉलर पर हुई जो इसके पिछले साल के मुकाबले 19 फीसदी अधिक है। रिपोर्ट में कहा गया है कि महंगे फोन खरीदने की चाहत में उपभोक्ता बजट बढ़ाने को तैयार दिख रहे हैं।