दिल्ली असेंबली के पैनल ने कंगना रनौत को भेजा समन, सिखों को बताया था खालिस्तानी आतंकवादी

नई दिल्ली
दिल्ली विधानसभा की शांति और सद्भाव समिति ने अपने बयानों से हमेशा सुर्खियों में छाई रहने वाली बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत को समन जारी किया है। उन्हें 6 दिसंबर दोपहर 12 बजे समिति के सामने पेश होने को कहा गया है। बता दें कि पिछलें दिनों एक्ट्रेस ने सिख समुदाय पर अप्रिय और अपमानजनक टिप्पणी की थी। इसे लेकर उन्हें समन जारी किया गया है। आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा शांति और सद्भाव समिति के अध्यक्ष हैं। वहीं दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने इंस्टाग्राम पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर कंगना रनौत के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। समिति द्वारा जारी बयान के अनुसार कंगना के खिलाफ यह शिकायत मंदिर मार्ग थाने के साइबर से में दर्ज कराई गई है। पुलिस शिकायत में आरोप लगाया गया है कि रनौत ने 'जानबूझकर और सोच-विचार करके' किसानों द्वारा तीन कृषि कानूनों के खिलाफ सालभर से किए जा रहे विरोध को 'खालिस्तानी' आंदोलन के रूप में चित्रित किया और उन्हें 'खालिस्तानी आतंकवादी' कहा। उन्होंने सिख समुदाय के खिलाफ अपमानजनक और आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया है। इस पोस्ट को सिख समुदाय की भावनाओं को आहत करने के लिए पोस्ट किया गया है।

आपने जानबूझकर पूरे सिख समुदाय पर लगाया खालिस्तानी आतंकी का ठप्पा
कंगना को भेजे गए नोटिस में समिति ने कहा है, 'प्रासंगिक रूप से, समिति को सिख समुदाय के खिलाफ आपके आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट पर 20.11.2021 को कथित तौर पर प्रकाशित की गई अपमानजनक और आपत्तिजनक पोस्ट/स्टोरी के बारे में शिकायतें मिली हैं। आपने जानबूझकर पूरे सिख समुदाय के ऊपर अपने संदर्भों के जरिए 'खालिस्तानी आतंकवादी' का ठप्पा लगाया है। इस तरह से पूरे सिख समुदाय को गलत तरीके से चित्रित किया गया है। इन शिकायतों के अनुसार, यह पोस्ट वैमनस्य पैदा करने के साथ-साथ सिख समुदाय को अपमानित करने की क्षमता रखता है।' शांति समिति के अध्यक्ष और राजेंद्र नगर विधानसभा सीट से आप विधायक राघव चड्ढा का कहना है कि रनौत के पोस्ट ने सिख समुदाय के लोगों की अत्यधिक पीड़ा पहुंचाने के साथ ही उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत किया है। उन्होंने कहा कि यह संभावित रूप से दिल्ली की शांति और सद्भाव में खलल डालने की स्थिति पैदा कर सकता है। पोस्ट कथित तौर पर सिख समुदाय के लोगों के जीवन और स्वतंत्रता के लिए खतरा पैदा करता है।

कंगना ने इंस्टाग्राम पर क्या लिखा था
कंगना के इस बयान के खिलाफ देश के कई स्थानों पर एफआईआर दर्ज की गई है। अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में एक्ट्रेस ने लिखा था, 'खालिस्तानी आतंकवादी आज भले ही सरकार का हाथ मरोड़ रहे हों, लेकिन उस एक महिला को नहीं भूलना चाहिए। इकलौती महिला प्रधानमंत्री ने इनको अपनी जूती के नीचे कुचल दिया था। चाहे उन्होंने इस देश को कितना ही नुकसान क्यों न पहुंचाया हो मगर अपनी जान की कीमत पर उन्हें मच्छरों की तरह कुचल दिया। लेकिन देश के टुकड़े नहीं होने दिए।'