ऑस्ट्रेलियन ओपन 2020: राफेल नडाल जीते, शारापोवा पहले दौर में बाहर

मेलबर्न
विश्व के नंबर एक खिलाड़ी स्पेन के राफेल नडाल ने वर्ष के पहले ग्रैंड स्लेम ऑस्ट्रेलियन ओपन में विजयी शुरुआत करते हुए पुरुष एकल के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया, लेकिन महिला वर्ग में पूर्व नंबर एक रूस की मारिया शारापोवा पहले ही दौर में बाहर हो गयी हैं। महिलाओं में नंबर दो चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लिसकोवा और पुरुषों में चौथी सीड रूस के डेनिल मेदवेदेव तथा पांचवीं सीड ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थिएम ने दूसरे दौर में स्थान बना लिया है।

शीर्ष वरीय और 19 बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन नडाल स्विस मास्टर रोजर फेडरर के 20 खिताबों से एक कदम ही दूर हैं और मेलबर्न पार्क में एकल के पहले राउंड में उन्होंने गैर वरीय बोलिवियाई ह्यूगो डेलियन के खिलाफ 6-2 6-3 6-0 से आसान जीत दर्ज कर अपने अभियान की बढ़िया शुरुआत की।

33 साल के पूर्व फ्रेंच तथा यूएस ओपन चैंपियन ने जीत के बाद कहा,“मुझे सिर्फ इस बात की चिंता है कि मैं अपने सर्वोच्च स्तर तक कैसे जाऊंगा। मैं 20 या 15 या 16 खिताबों की परवाह नहीं करता। मैं केवल आगे बढ़ते रहने के बारे में सोचता हूं। मैं अपने टेनिस करियर का मजा ले रहा हूं।” उनका अगला मुकाबला फेडेरिको डेलबोनिस या जोओ सोसा से होगा। नडाल ने करियर में केवल एक बार वर्ष 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीता था, यहां उन्होंने फेडरर को फाइनल में हराया था। उसके बाद से नडाल को चार बार मेलबोर्न के खिताबी मुकाबले में हारना पड़ा है।

दूसरी ओर महिला एकल के पहले दौर में ही पांच बार की ग्रैंड स्लेम चैंपियन और वाइल्ड कार्ड धारक शारापोवा का बोरिया बिस्तरा बंध गया, जिसके बाद 32 साल की इस खिलाड़ी के करियर पर सवाल उठ रहे हैं। शारापोवा को 19वीं वरीय क्रोएशिया की डोना वेकिक के हाथों लगातार सेटों में 3-6, 4-6 से हार झेलनी पड़ी।

विश्व में 145वीं रैंकिंग पर खिसक चुकीं पूर्व नंबर एक शारापोवा को मेलबोर्न में वाइल्ड कार्ड दिया गया था लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा सकीं। शारापोवा ने वर्ष 2008 में यहां खिताब जीता था। वह वर्ष 2010 में भी मेलबोर्न में पहले राउंड में ही बाहर हो गई थीं और लगातार ग्रैंड स्लेम के पहले दौर में बाहर हो रही हैं।

26 साल के आस्ट्रियाई खिलाड़ी और पांचवीं सीड डॉमिनिक थिएम ने फ्रांस के एड्रियन मनारियो को 6-3 7-5 6-2 से लगातार सेटों में हराकर दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया। वह गत वर्ष रोलां गैरों के फाइनल में पहुंचे थे। मेदवेदेव ने अमेरिका के फ्रांसिस तियाफो को दो घंटे 36 मिनट में चार सेटों में 6-3, 4-6, 6-4, 6-2 से हराया। सातवीं सीड जर्मनी के अलेक्जेंडर ज्वेरेव में इटली के मार्को सेचिनाटो को 6-4, 7-6, 6-3 से पराजित किया।

15वीं वरीय स्विटजरलैंड के स्टेनिसलास वावरिंका ने दामिर झूमुर को 7-6, 6-7, 6-4, 6-4 से हराकर दूसरे दौर में प्रवेश किया जबकि 12वीं वरीय इटली के फाबियो फोगनिनी ने अमेरिका के रिली ओपेल्का को 3-6, 6-7, 6-4,6-3, 7-6 से पांच सेटों के कड़े संघर्ष में पराजित किया।

10वीं वरीय फ्रांस के गाएल मोंफिल्स ने चीनी ताइपे के येन सुन लू को लगातार सेटों में 6-1, 6-4, 6-2 से हराकर आसान जीत दर्ज की। 14वीं वरीय अर्जेंटीना के डिएगो श्वार्टज़मैन ने दक्षिण अफ्रीका के लाएड हैरिस को 6-4, 6-2, 6-2 से हराया।

महिलाओं में दूसरी वरीय चेक गणराज्य कीकैरोलिना प्लिस्कोवा ने फ्रांस की क्रिस्टीना म्लादेनोविच को एक घंटे 24 मिनट में लगातार सेटों में 6-1, 7-5 से पराजित किया जबकि छठी वरीय स्विटजरलैंड की बेलिंडा बेनसिस ने स्लोवाकिया की एना कैरोलीना श्मिडलोवा को 6-3, 7-5 से हराकर दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया। चौथी सीड रोमानिया की सिमोना हालेप ने अमेरिका की जेनिफर ब्रॉडी को 7-6, 6-1 से हराकर दूसरे दौर में जगह बना ली।

 

Leave a Comment