ऋषभ पंत को मानना पड़ेगा कि वो खराब दौर से गुजर रहा है

नई दिल्ली
भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने गुरूवार को कहा कि ऋषभ पंत को स्वीकार करना होगा कि वह खराब दौर से गुजर रहा है और उसे बतौर क्रिकेटर बेहतर होने पर फोकस जारी रखना होगा। बाईस साल के पंत पांच महीने पहले तक सभी फॉर्मेट में विकेटकीपर के तौर पर भारत की पहली पसंद थे। उन्होंने सीमित ओवरों के फॉर्मेट में केएल राहुल को जगह गंवा दी जबकि टेस्ट में ऋद्धिमान साहा विकेटकीपर हैं।

रहाणे ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट से पूर्व कहा कि यह स्वीकार करना जरूरी है कि आप कहां खड़े हैं। सकारात्मक रहकर ज्यारा से ज्यादा सीखने की जरूरत है। बात सीनियर या जूनियर की नहीं है। उन्होंने कहा कि किसी को भी बाहर बैठना अच्छा नहीं लगता लेकिन यह स्वीकार करना होगा कि टीम को उस दिन क्या जरूरत है। हर खिलाड़ी के लिए स्थिति को स्वीकार करना अहम है। जो हम नियंत्रण में रख सकते हैं, उसी पर फोकस रखना होगा। बतौर क्रिकेटर मेहनत करते रहना होगा।

बता दें कि चोट से वापस कर लौटे ऋद्धिमान साहा को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में प्लेइंग इलेवन में लगातार मौका दिए गए, वहीं पंत को बेंच पर बैठना पड़ा। ऋषभ पंत के अच्छी बात यह है कि उन्होंने इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया जैसी मुश्किल परिस्थितियों में शतक बनाए हैं, इसलिए कप्तान कोहली पंत को मौका देने पर विचार कर सकते हैं।

 

Leave a Comment