पाक राष्‍ट्रपति ने पहना N95 मास्‍क, भड़के डॉक्‍टर

इस्लामाबाद
पाकिस्तान में कोरोना वायरस के चलते न सिर्फ आम लोगों के लिए हालात चिंताजनक हैं, वहीं इलाज में दिन-रात मेहनत कर रहे डॉक्टरों तक को सेफ्टी इक्विपमेंट नहीं मिल रहे हैं। इस बीच राष्ट्रपति डॉ. आरिफ अल्वी को एक बैठक में N-95 मास्क पहने देखकर मेडिकल स्टाफ में आक्रोश है। खासकर तब जब हाल ही में क्वेटा में सेफ्टी इक्विपमेंट की मांग करने वाले डॉक्टरों को पुलिस ने पीट दिया था। पाकिस्तान में अब तक 4317 लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं और 63 लोगों की मौत हो चुकी है।

डॉक्टरों तक को नहीं मिल रहे मास्क
अल्वी को नाराजगी का शिकार इसलिए भी होना पड़ रहा है क्योंकि सरकार ने निर्देश जारी किए थे कि ये मास्क सिर्फ उन मेडिकल स्टाफ के लिए हैं जो क्वारंटीन सेंटर्स और आइसोलेशन वॉर्ड्स में जाते हैं। यहां तक कि दूसरे डॉक्टर भी इन मास्क को नहीं पहन सकते। ऐसे में एक बैठक के दौरान अल्वी के मास्क पहनने पर डॉक्टर सवाल खड़े कर रहे हैं। पाकिस्तान मेडिकल असोसिएशन ने बिना अल्वी का नाम लिए बयान जारी किया कि आजकल नेता और नौकरशाह बैठकों और दौरों पर N-95 मास्क पहनते हैं, जबकि मेडकिल स्टाफ के सामने मास्क और सुरक्षा उपकरणों की कमी है।

PM को लिखा खत
बयान में कहा गया, 'N-95 मास्क हर किसी के लिए जरूरी नहीं है। यह सिर्फ क्वारंटीन और आइसोलेशन फसिलटीज में उन स्वास्थयकर्मियों के लिए जरूरी है जो कोरोना वायरस मरीज का इलाज कर रहे हैं और उन्हें इन्फेक्शन का खतरा होता है।' उधर, पाकिस्तान यंग फार्मासिस्ट असोसिएशन ने क्वेटा में डॉक्टरों, नर्सों, फार्मासिस्टों और पैरामेडिक स्टाफ को पीटे जाने के खिलाफ प्रधानमंत्री इमरान खान को खत लिखा है। खत में सवाल किया गया है कि सुरक्षा उपकरणों की कमी आखिर क्यों है। पुलिस, मेडिकल स्टाफ और टीचरों के पास भी मास्क नहीं हैं।

Leave a Comment