6 माह के मासूम को नदी में फेंकने के बाद माँ ने खुद को लगाई आग, हालत गंभीर

जांजगीर-चांपा
चांपा क्षेत्र के बिरगहनी चौक में माँ ने अपने 6 माह के मासूम को पहले हसदेव घाट नदी में फेंकने के बाद खुद को आग के हवाले कर लिया, जहां वो 70 फीसदी जल गई है और उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। वहीं मासूम की तलाश में गोताखोर लगे हुए है। 8 दिन पहले पति से विवाद होने के बाद वह मायके में रह रही थी।

गेमन पुल के पहले बिरगहनी चौक के पास रोहिणी बाई का मायका है। पति से विवाद होने के चलते करीब 8 दिन पहले वह अपनी 6 माह की मासूम बेटी के साथ मायके में रहने के लिए आ गई थी। आए दिन पति से विवाद चलते उसने कल देर करीब 11 बजे अपनी बेटी को हसदेव नदी के घाट में जाकर फेंक दिया। इसके बाद वह घर लौटी और खुद को आग के हवाले कर ली। शोर मचाए जाने पर परिजन बाहर निकले और आग को बुझाने की कोशिश करने लगे, जैसे-तैसे आग को बुझाया गया और उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया, जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने बिलासपुर स्थित सिम्स रिफर कर दिया गया है, महिला 70 फीसदी तक जल चुकी है और उसकी हालत एम्स के डॉक्टरों ने गंभीर बताई है।  6 माह की मासूम की तलाश में गोताखोरों की टीम लगी हुई है। वहीं दूसरी परिजनों का आरोप है कि पति से झगड़े के चलते रोहिणी ने यह कदम उठाया है।