भागलपुर में पूर्व मुखिया को अपराधियों ने गोलियों से भूना, शूटर भी मारा गया

भागलपुर 
बिहार के भागलपुर जिले में इशाकचक थाना क्षेत्र के भीखनपुर में शुक्रवार शाम खगड़िया निवासी पूर्व मुखिया और मौजूदा मुखिया के पति राजेश कुमार रमण उर्फ पप्पू मुखिया को अपराधियों ने गोलियों से भून दिया। क्रॉस फायरिंग में अपराधियों की गोली से मुंगेर के जानकीनगर के हार्दियाबाद निवासी एक शूटर रतन कुमार साह भी मारा गया। दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी।

शुक्रवार शाम 5.25 बजे हुई इस वारदात में सात अपराधियों के होने की बात सामने आयी है। घटना को अंजाम देने के बाद छह अपराधी हथियार लहराते और फायरिंग करते हुए पैदल ही भाग निकले। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि माउंट असीसी की गली में जाने के बाद वे बाइक से भागे।

तीन तरफ से होने लगी फायरिंग
राजेश कुमार उर्फ पप्पू शुक्रवार शाम अपने साले सुमन भगत के साथ भीखनपुर में मटन खरीदने गये थे। उन्होंने अपनी चार पहिया गाड़ी थियोसॉफिकल लॉज के सामने पार्क की थी। मटन खरीदने के बाद वे बैठने के लिए गाड़ी का गेट खोलने ही वाले थे कि तीन तरफ से अपराधियों ने फायरिंग शुरु कर दी। राजेश को चार गोलियां लगीं। सीने, पेट और पीठ में दो गोलियां लगीं। राजेश के पास भी लाइसेंसी पिस्टल थी पर उसके इस्तेमाल का मौका नहीं मिला। इसी दौरान अपराधियों की एक गोली शूटर रतन को भी लगी। उसके पंजरे में पीछे की तरफ गोली लगी। इशाकचक इंस्पेक्टर ने बताया कि अस्पताल ले जाने के लिए गाड़ी में बिठाते हुए रतन की सांस चल रही थी पर अस्पताल पहुंचते ही उसे भी मृत घोषित कर दिया गया।

घटनास्थल से खोखा, गोली और पिस्तौल बरामद
सूचना मिलने पर एसएसपी आशीष भारती, एएसपी सिटी पूरण झा और इशाकचक इंस्पेक्टर एसके सुधांशु घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने वहां से पांच खोखे व एक गोली बरामद किया। शूटर रतन के पास से देसी पिस्तौल बरामद किया गया है। राजेश कुमार उर्फ पप्पू मुखिया की लाइसेंसी पिस्टल उनके साले सुमन ने पुलिस को सौंपा। रतन की देसी पिस्तौल की मैगजीन में एक गोली फंसी थी। इससे साफ है कि फायरिंग करते हुए ही उसे गोली लगी। राजेश के लाइसेंसी पिस्टल से एक भी गोली फायरिंग नहीं हुई। घटनास्थल के पास से पुलिस ने मास्क भी बरामद किया है जो शूटर के होने की आशंका जताई जा रही है।

रात में खगड़िया और मुंगेर में हुई छापेमारी
शूटर रतन साह के पास से पुलिस ने मोबाइल और उसके पहचान पत्र के अलावा पर्स जब्त किया है। उसके मोबाइल की जांच से पुलिस को कुछ संदिग्ध नंबर भी मिले हैं। इस घटना में शामिल अन्य शूटरों की पहचान और गिरफ्तारी के लिए भागलपुर पुलिस ने खगड़िया और मुंगेर पुलिस से समन्वय बनाकर देर रात तक दोनों जिलों में कई जगहों पर छापेमारी की।

मुखिया पति की गोली मारकर हत्या करनेवाले अपराधियों में एक की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी। उसकी मौत उसके साथियों की गोली से होने की बात सामने आ रही है। मुखिया पति की गांव में कुछ लोगों से रंजिश थी। सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। सीसीटीवी फुटेज देखे जा रहे हैं और शूटर के मोबाइल को भी खंगाला जा रहा है। अपराधी जल्द पकड़े जायेंगे।
– आशीष भारती, एसएसपी