5 विश्वविद्यालयों को परीक्षा कैलेंडर बनाने का निर्देश, लंबित परीक्षाओं पर राजभवन सख्त

 पटना 
 बिहार के विश्वविद्यालयों में लंबित परीक्षाओं को लेकर उदासीनता पर राजभवन ने गहरा एतराज जताया है। खासतौर से पांच विश्वविद्यालयों की सुस्ती पर नकेल कसने की तैयारी की गयी है। विश्वविद्यालयों को लंबित परीक्षाओं को लेकर कैलेंडर बनाने का निर्देश दिया गया है।
 
सभी विश्वविद्यालयों को ऐसी व्यवस्था करने को कहा गया कि परीक्षा और रिजल्ट के बाद जनवरी अंत में दीक्षांत समारोह हो सके। राज्यपाल व कुलाधिपति फागू चौहान के निर्देश पर शुक्रवार को राजभवन में आठ विश्वविद्यालयों के कुलसचिवों की बैठक हुई। इसमें बीआरए विश्वविद्यालय बिहार, एलएनएमयू, केएसडी दरभंगा, जेपी विश्वविद्यालय छपरा, बीएन मंडल विश्वविद्यालय मधेपुरा, टीएमवी भागलपुर, मुंगेर विश्वविद्यालय और पूर्णिया विश्वविद्यालय के कामकाज की समीक्षा दो पालियों में की गयी। इन विवि के कुलसचिवों के अलावा ओएसडी और राजभवन के प्रधान सचिव चैतन्य कुमार बैठक में मौजूद रहे। 

ऑनलाइन डिग्री वितरण, अंतर स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर की लंबित परीक्षाओं तथा दीक्षांत समारोह के आयोजन समीक्षा हुई।समीक्षा में पाया गया कि बीआरए विवि बिहार, टीएमवी भागलपुर, मुंगेर विश्वविद्यालय, बीएन मंडल विश्वविद्यालय एवं जय प्रकाश विवि छपरा में लंबित परीक्षाओं के आयोजन की तैयारियां संतोषजनक नहीं हैं। 

कुलसचिवों को कहा गया कि लंबित परीक्षाओं के आयोजन का कैलेंडर तैयार कर सभी लंबित परीक्षाएं लेते हुए परीक्षाफल शीघ्र प्रकाशित किये जाएं। ऑनलाइन डिग्री वितरण के कार्य में भी बीआरए विवि बिहार एवं जेपी विवि छपरा की उपलब्धियां संतोषजनक नहीं पायी गयीं। आठों विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन डिग्री वितरण के कार्य की साप्ताहिक समीक्षा करते हुए समन्वय बनाकर इसे निष्पादित करने का निर्देश दिया गया। राजभवन ने ऑनलाइन कक्षाओं की पूर्व सूचना नहीं दिए जाने पर भी नाराजगी जाहिर की। ऐसी सूचनाओं को विवि की वेबसाइट पर प्रकाशित करने को कहा गया। राजभवन से मिली जानकारी के मुताबिक, शेष विवि के कामकाज की समीक्षा राजभवन में सात दिसम्बर को होगी।