1 मई से 15 मई के बीच शहर में मरीजों का आंकड़ा 83% तक बढ़ गया

भोपाल। राजधानी में कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। सरकार के दावों के बावजूद शहर में संक्रमण की रफ्तार दोगुना हो गई है। मई के पहले तक शहर में जहां हर रोज औसत करीब 14 मरीज मिल रहे थे वहीं अब रोज 28 कोरोना के मरीज सामने आ रहे हैं। यही नहीं 1 मई से 15 मई के बीच शहर में मरीजों का आंकड़ा 83% तक बढ़ गया। 1 मई को राजधानी में मरीजों की संख्या 521 थी जो 15 मई को 954 हो गई। विशेषज्ञों का कहना है कि अगर इसी दर से मरीजों की संख्या बढ़ती रही तो इस माह के अंत तक शहर में मरीजों की संख्या 1750 के आस पास पहुंच जाएगी।

लापरवाही पड़ रही भारी
तेजी से बढ़ते संक्रमण के पीछे बड़ी वजह लापरवाही है। लॉक डाउन का पालन नहीं करना है। कैंटोंमेंट क्षेत्र में धीमे गति से सैंपल लेना भी बड़ा कारण है। स्वास्थ्य और पुलिस कर्मचारियों के पॉजिटिव आने के बाद उनके घरों के आसपास सैपलिंग देर से हुई। इससे संक्रमण फैलता रहा।

प्रदेश में बढ़ रही रफ्तार
भोपाल के अलावा इंदौर उज्जैन में भी मई के माह में संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है इंदौर में 15 दिन में मरीजों की संख्या 1515 से 51% बढ़कर 2299 हो गई। यानि हर रोज औसतन 50 मरीज मिले।

जहांगीराबाद में 280 हुई संक्रमितों की संख्या
राहत वाली बात यह कि बीते 3 दिन से जहांगीराबाद क्षेत्र में पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी आई है। बुधवार को सिर्फ छह पॉजिटिव मिले। क्षेत्र में संक्रमितों की संख्या 280 हो गई है। इसमें दो एक ही परिवार के हैं। इसी तरह जाटखेड़ी में 7 नए पॉजिटिव है। इसमें एक ही परिवार के चार संक्रमित पाए गए।

Leave a Comment