ऑस्ट्रेलिया ने चीन के खिलाफ उठाया कदम, हांगकांग के 10 हजार लोगों को देगा स्थाई निवास का मौका

सिडनी 
ऑस्ट्रेलिया सरकार ने कहा है कि वह यहां रह रहे हांगकांग के कम से कम 10,000 नागरिकों का वर्तमान वीजा समाप्त होने के पश्चात उन्हें स्थाई निवास के लिए आवेदन करने का एक मौका देगा। देश के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन की सरकार का मानना है कि अर्द्धस्वायत्त क्षेत्र हांगकांग में नए कड़े राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू करने का तात्पर्य है कि लोकतंत्र समर्थकों को राजनीतिक उत्पीड़न का सामना करना पड़ सकता है। कार्यवाहक आव्रजन मंत्री एलन टुडगे ने 'ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोरेशन टेलीविजन' से रविवार (12 जुलाई) को कहा, ''इसका अर्थ है कि हांगकांग पासपोर्ट वाले कई लोग अन्य जगहों पर जाने के लिए स्थान तलाश करेंगे और इसी लिए हमने अपना अतिरिक्त वीजा विकल्प उनके सामने रखा है।" उन्होंने कहा कि स्थाई निवास पाने के लिए आवेदकों को चरित्र परीक्षा, राष्ट्रीय सुरक्षा परीक्षा और इसी प्रकार की अन्य परीक्षाएं उत्तीर्ण करनी होंगी।

आव्रजन मंत्री ने कहा, ''तो यह अपने आप नहीं होगा, लेकिन हां, स्थाई निवास के लिए यह आसान रास्ता है और एक बार आप स्थाई निवासी हो गए तो उसके बाद नागरिकता का रास्ता है।" उन्होंने कहा, ''अगर वास्तव में लोगों का उत्पीड़न हो रहा है तो इसे साबित करके हमारे मानवतावादी वीजाओं में से एक के लिए आवेदन दिया जा सकता है।" मॉरिसन ने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि ऑस्ट्रेलिया ने हांगकांग के साथ अपनी प्रत्यर्पण संधि समाप्त कर दी है और हांगकांग के नागरिकों का वीजा दो से बढ़ा कर पांच वर्ष कर दिया गया है। इस पर चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि कैनबरा के इस कदम पर आगे की कार्रवाई के लिए उसके अधिकार सुरक्षित हैं।

Leave a Comment