सुशांत की ‘छिछोरे’ IFFI में दिखाई जाएगी

सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने शनिवार को घोषणा करते हुए कहा कि फिल्म तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर की फिल्म 'सांड की आंख' और सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म 'छिछोरे' सहित 20 गैर-फीचर और 23 फीचर फिल्में 51वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) भारतीय पैनोरमा वर्ग में प्रदर्शित की जाएंगी।

नौ दिवसीय फिल्म महोत्सव गोवा में 20-28 नवंबर तक होने वाला था लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया और अब यह महोत्सव 16 जनवरी से 24 जनवरी तक आयोजित होगा। प्रकाश जावडेकर ने ट्वीट करते हुए लिखा, '51 वें आईएफएफआई के भारतीय पैनोरमा में 23 फीचर और 20 गैर-फीचर फिल्मों के चयन की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है।'

तुषार हीरानंदानी के निर्देशन में बनी तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर की फिल्म 'सांड की आंख' महोत्सव में पैनोरमा खंड के लिए शुरुआती फिल्म होगी। इसके अलावा पैनोरमा खंड में वेत्री मारन की 'असुरन', नील माधव पांडा की उड़िया भाषा की फिल्म 'कलिरा अटिता' और गोविंद निहलानी की 'अप, अप एंड अप' भी दिखाई जाएगी।

फिल्मकार और लेखक जॉन मैथ्यू मत्थन की अध्यक्षता वाली जूरी द्वारा चुनी गई फिल्मों में 'ब्रिज' (असमिया), 'अविजात्रिक' (बांग्ला), 'पिंकी एली?' (कन्नड़), 'ट्रान्स' (मलयालम) और 'प्रवास' (मराठी) शामिल है। तीन मुख्यधारा की फिल्मों में डायरेक्टर नितेश तिवारी की फिल्म 'छिछोरे' और 'असुरन' और मलयालम फिल्म "कप्पेला" भी शामिल हैं। फिल्म 'छिछोरे' सुशांत सिंह राजपूत की है, जिनका इस वर्ष जून में निधन हो गया था।

फिल्मों का चयन फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया (एफएफआई) और प्रड्यूसर गिल्ड की सिफारिशों के आधार पर डायरेक्टरेट ऑफ फिल्म फेस्टिवल्स (डीएफएफ) द्वारा किया गया है। गैर-फीचर जूरी की अध्यक्षता मशहूर फीचर और डॉक्यूमेंट्री फिल्मकार हाओबम पबन कुमार ने किया।