कई जिलों का पारा 40 के पार, टूट सकता है पिछले अप्रैल की गर्मी का रिकॉर्ड

भोपाल
आगामी आने वाले दो तीन दिनों में मौसम के तेवर और तीखे होने वाले हैं। मौसम वैज्ञानिकों का मानना है कि इस महीने के अंतिम दस दिन जमकर तपिश वाले होंगे। वहीं, मई-जून में जबरदस्त गर्मी पडेÞगी। इस बार पिछले अप्रैल की गर्मी का रिकॉर्ड भी टूट सकता है। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि अगले एक दो दिन में मौसम में विशेष परिवर्तन होने के आसार बन रहे हैं। वहीं हवा का रूख भी बदल रहा है। इसके  अलावा वर्तमान में कोई वेदर सिस्टम भी एक्टिव नहीं हैं इस सब कारणों की वजह से तापमान में बढ़ोतरी की संभावनाएं बन रही हैं।
 
 फिर बढेÞ हीटवेव के आसार-मौसम वैज्ञानिकों अंदेशा जताया है कि अगले तीन चार दिनों में एक बार फिर हीटिंग की संभावनाएं बढ़ रही हैं। इस महीने के अंत तक एक बार फिर लू का प्रभाव देखने को मिल सकता है। वहीं दिन व रात के तापमान में भारी बढ़ोतरी हो सकती है। यह प्रभाव अब पूरे सप्ताह भर बने रहने के संकेत मिल रहे हैं। हालांकि यह प्रभाव हवा के रूख पर ही निर्भर करेगा।

मौसम वैज्ञानिक शैलेंद्र कुमार नायक ने बताया कि पिछले साल अप्रैल महीने में तपिश के बारिश भी हुई थी। इस बार बारिश के सिटस्म नजर नहीं आ रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर राजस्थान एवं गुजरात से लगातार गर्म हवाओं को प्रभाव बढ़ने लगा है। इस महीने के अंत तक 40 डिग्री के पार जाने की संकेत मिल रहे हैं।

राजधानी में समेत प्रदेश के कई इलाकों में मौसम के तेवर और तीखे नजर आ रहे हैंं। खंडवा, खरगौन, रायसेन एवं  सीधी सहित कई जिलों का अधिकतम तापमान 40 डिग्री के पार जा चुका है। वहीं, कुछ ज्यादातर जिलों का तापमान भी इसके से थोड़ा ही कम है। वहीं, दूसरी ओर पचमढ़ी अभी कूलिंग कैपिटल बना हुआ है। यहां का अधिकतम तापमान 32.5 डिग्री के करीब है। जो प्रदेश में सबसे कम है। यहां रात्रि में अब भी हल्की सर्दी पड़ रही है। इसके अलावा ज्यादातर शहरों के रात्रि का तापमान भी 20 डिग्री से ऊपर ही बना हुआ है।